AQI Full Form In Hindi – एयर क्वालिटी इंडेक्स क्या होता है पूरी जानकारी

AQI Full Form In Hindi : जैसे कि हम सब जानते ही हैं सर्दी के मौसम में वायु प्रदूषण सबसे ज्यादा देखने को मिलते हैं जिससे लोगों का सेहत का काफी नुकसान होता है खास करके जिन लोगों का सांसो का समस्या है उन्हें ज्यादा नुकसान होते हैं. इस तरह के परिस्थिति में लोग खुद को वायु प्रदूषण से दूर रहकर घर में बैठकर अपना सेहत स्वस्थ रख सकते हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें वायु में प्रदूषण का मात्रा पता होना चाहिए और इस मात्रा को पता करने के लिए AQI मदद करता है जो हमें सही मात्रा के साथ वायु कितना दूर स्थित है यह बताते हैं जिसके मदद से हम अपना सेहत का नुकसान होने से खुद को रक्षा कर सकते हैं. 

तो दोस्तों क्या आप जानते हैं यह AQI क्या है, इसका पूरा नाम क्या है (AQI Full Form In Hindi) और यह किस तरह से हमें वायु प्रदूषण मात्रा बताते हैं, कैसे हम इसके मदद से वायु प्रदूषण की मात्रा समझकर खुद को सुरक्षित रख सकते हैं. तो चलिए हम आगे बढ़ते हैं और AQI के बारे में जानकारी हासिल करते हैं. यह लेख बहुत ही मदद कर और महत्वपूर्ण साबित हो सकता है तो संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे साथ इस लेख में अंत तक जरूर बनेगा.

AQI Full Form In Hindi

AQI का फुल फॉर्म क्या है?

चलिए दोस्तों AQI के बारे में जानने से पहले हम आपको AQI का फुल फॉर्म के बारे में बताते हैं AQI का फुल फ्रॉम हिंदी और अंग्रेजी भाषा में इस प्रकार है.

➤  AQI Full Form In English – Air Quality Index

➤  AQI Full Form In Hindi – वायु गुणवत्ता सूचकांक

यह भी पढ़ें 

1.  IMD Full Form In Hindi – मौसम विभाग या आईएमडी के बारे में संपूर्ण जानकारी?

2.  एलकेजी (LKG) यूकेजी (UKG) Full Form In Hindi, अंतर क्या है?

3.  BTS Full Form in Hindi – बीटीएस क्या है और कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

4.  POK Full Form In Hindi – पीओके (POK) क्या है, इसके मुद्दे और इतिहास

5.  PWD Full Form in Hindi – पीडब्ल्यूडी क्या होता है और इनका जिम्मेदारियां

AQI क्या है / What is AQI In Hindi?

दोस्तों जैसे कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं की AQI का फुल फ्रॉम है Air Quality Index जैसे हिंदी में वायु गुणवत्ता सूचकांक कहा जाता है. जैसे-जैसे विश्व में लोकसंख्या बढ़ते जा रहे हैं वैसे वैसे ही लोगों का जीवन आसान बनाने का मशीनों का संख्या भी बढ़ते जा रहे हैं जैसे कि वाहन, तरह-तरह के मशीन, और कारखाना आदि का इस्तेमाल धीरे-धीरे बढ़ते जा रहे हैं जिससे दिन-ब-दिन हमारा बायो भी दूषित होते जा रहे हैं. इसके अलावा सर्दी के मौसम में करी हद तक हैं वायु प्रदूषण देखने को मिलते हैं क्योंकि इस मौसम में बारिश नहीं होते हैं जिससे वायु हर समय प्रदूषित रहता है और हवा के साथ प्रदूषित ऑक्सीजन हमारे अंदर घुसते हैं जिससे हमारा सेहत का बहुत नुकसान होता है.

साधारण तौर पर वायु सर्दी के मौसम में हमेशा प्रदूषित रहता है लेकिन अभी के समय पर वह लोगों को ज्यादा ख्याल रखना चाहिए जिन्हें ऑक्सीजन की कमी के वजह से हॉस्पिटल में भर्ती रहना पड़ा था. तो आप प्रश्न आता है कि हम कैसे प्रदूषण का मात्रक निर्धारण कर सकते हैं और खुद को सुरक्षित रख सकते हैं. तो हम आपको बता दें कि वायु में प्रदूषण का मात्रा जानने के लिए AQI (वायु गुणवत्ता सूचकांक) उपयोग किया जाता है. जिसके जरिए आप पता कर सकते हैं कि वायु में कितना प्रतिशत प्रदूषण है. और खुद को प्रदूषित वायु से दूर रख कर घर में बैठकर सुरक्षित रह सकते हैं. 

अगर आप वायु में प्रदूषण का मात्रा परख कर सके तो खुद और खुद का परिवार का ध्यान रख कर सुरक्षित रह सकते हैं. AQI के मदद से आप आपके आसपास के हवा का प्रदूषण का मात्रा परख कर सकते हैं आप जान सकते हैं कि वायु कितना साफ है. सबसे पहले AQI देखता है हवा में कितना gas है, pollution है, वाहन, फैक्ट्री, पटाखों आदि इन सब को मिलाकर कितना प्रदूषण हो रहा है उसका एक मात्रा निकाल कर देते हैं. जिसे देखकर हम प्रदूषण का मात्रा जान सकते हैं और खुद को सुरक्षित रख सकते हैं.

AQI का मात्रा का भाग

AQI (Air Quality Index) का मात्रा समझने के लिए आपको पता होना चाहिए कि कितने मात्रे पर वायु सुरक्षित होते हैं और कितने मात्रे पर वायु दूषित होते हैं. तो चलिए जानते हैं AQI के सर को हम कैसे पहचान सकते हैं, किस तरह से इसके level को भाग किया गया है और कौन से AQI level पर वायु किस तरह के लोगों के लिए सुरक्षित होते हैं और किस तरह के लोगों के लिए हानिकारक होते हैं. 

Level मात्रा  श्रेणी चेतावनी
1 0-50 अच्छा हर कोई आराम से सांस ले सकता है और लोग अपने कामों के लिए बाहर निकल सकते हैं.
2 51-100 संतोषजनक इस परिस्थिति में साधारण लोगों को कोई परेशानी नहीं होगी लेकिन बुजुर्ग लोगों को थोड़ी बहुत समस्या हो सकती है. 
3 101-150 मध्यम इस क्षेत्र में सेहत माता लोगों को और परेशानी हो सकती है लेकिन संवेदनशील लोगों को ज्यादा परेशानी हो सकती है.
4 151-200 खराब संवेदनशील लोगों को ज्यादा परेशानी होगी, और सेहतमंद लोगों को हार्ड और सांस से जुड़ी परेशानी हो सकती है. 
5 201-300 बेहद खराब सेहत मंत्र लोगों को भी सांस से जुड़ी बहुत परेशानी हो सकती है. जो व्यक्ति पहले से सांस की समस्या से यूज़ रहे हैं उनके लिए बहुत हानिकारक है.
6 300+ खतरनाक इस परिस्थिति को कर सबसे ज्यादा खतरनाक कहलाया जाता है, सेहतमंद लोग और बुजुर्ग लोग सबको सांस लेने में परेशानी होगी.

AQI का लेबल 6 तरह के होते हैं जिसमें 300 से लेकर 500 तक सबसे ज्यादा खतरनाक होता है. इससे आप समझ सकते हैं अगर प्रदूषण 300 या इससे ज्यादा है तो यह सेहत के लिए कितना हानिकारक हो सकता है. अगर ऐसा परिस्थिति आता है तो इसे आपातकालीन क्या लाया जाएगा उस परिस्थिति में अपने घर से बिल्कुल ना निकले क्योंकि हवा के अंदर बहुत ज्यादा प्रदूषण होगा और हम सांस नहीं ले पाएंगे.दोस्त मैं आप सभी पर यह गुजारिश करना चाहूंगा कि जिनके घर में छोटे बच्चे बुजुर्ग और बीमार लोग हैं उन लोगों को अपने घर से बिल्कुल भी ना निकलने दे.

यह भी पढ़ें 

1.  IMD Full Form In Hindi – मौसम विभाग या आईएमडी के बारे में संपूर्ण जानकारी?

2.  एलकेजी (LKG) यूकेजी (UKG) Full Form In Hindi, अंतर क्या है?

3.  BTS Full Form in Hindi – बीटीएस क्या है और कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

4.  POK Full Form In Hindi – पीओके (POK) क्या है, इसके मुद्दे और इतिहास

5.  PWD Full Form in Hindi – पीडब्ल्यूडी क्या होता है और इनका जिम्मेदारियां

दोस्तों आपने क्या सीखा

दोस्तों आज हम आपको जानकारी के तौर पर एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय के बारे में जानकारी प्रदान करने की कोशिश किए हैं, जानकारी के तौर पर हम आपको बताएं हैं AQI क्या है, इसका पूरा नाम क्या है (AQI Full Form In Hindi) और यह किस तरह से हमें वायु प्रदूषण मात्रा बताते हैं, कैसे हम इसके मदद से वायु प्रदूषण की मात्रा समझकर खुद को सुरक्षित रख सकते हैं. यदि आपको हमारा यह लेख useful, helpful और informative लगे हैं तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

AQI की मदद से आप प्रदूषण निर्धारित कर सकते हैं अगर प्रदूषण नियंत्रित में है तो संवेदनशील लोगों को घर से बाहर निकलने दे सकते हैं.हम उम्मीद करते हैं कि आप आपका और आपका परिवार का यह आपका ध्यान जरूर रखेंगे हमेशा स्वस्थ रहें और खुश रहें. हम उम्मीद कहते हैं कि हमारा यह लेख आपको जरूर बेहद पसंद आया होगा मिलते हैं आपसे अगले नए जानकारी के साथ. Google

Leave a Comment