भारत में कुल कितनी नदियां है? नदियों की नाम, उद्गम स्थल, संगम और लम्बाई

दोस्तों क्या आपको पता है भारत में कुल कितनी नदियां है? तथा उन भारतीय नदी का नाम क्या है? अगर आपको भारत की नदियों के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पता है, तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है. आज हम भारत में नदियों की उत्पत्ति से लेकर समाप्ति तक सब जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से आपको देने वाले हैं.

भारत की सुंदरता में नदियों का योगदान सबसे महत्वपूर्ण है. भारत में नदियों को बहुत ही पवित्र और धार्मिक माना जाता है, तथा कहा जाता है भारत की आर्थिक और सांस्कृतिक विकास में भारतीय नदी की योगदान है. भारत की नदियां धर्म और आस्था के प्रतीक होते हैं. भारत की नदियों के वजह से समाज, गांव और बस्तियों का निर्माण होते हैं. 

भारत में नदी और उप नदी कई सारे हैं, इन नदियों के बारे में जानना और इनका महत्व समझना हमारा सौभाग्य है. क्या आप नहीं जानते हैं भारत के नदियों का उद्गम स्थल और अंतिम प्रवाह स्थल के बारेमे तो चलिए जानते हैं भारत की इस नदी, उपनदी, शाखा-प्रशाखा के बारे में. और विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त करते हैं.

यह भी पढ़ें : हमारे देश का नाम कैसे पड़ा भारत, इंडिया और हिंदुस्तान नाम क्यों हुआ?

भारत में नदियाँ

भारतीय भौगोलिक के एक महत्वपूर्ण विषय है (Indian River) भारतीय नदियां. भारत देश नदियों की सम्मेलन है, यहां पर अनेक प्रकार के नदिया पाए जाती हैं. विभिन्न नामके नदिया, विभिन्न रूप और आकृति के नदिया की विस्तार है पूरे भारत में.

भारत में कुल कितनी नदियां है

भारत की सभी नदियों की उत्पत्ति पर्वत से होकर किसी ना किसी बड़ी नदी या समुद्र से जाकर मिलती है. इन सभी नदियां भारत के दो तरफ भाग होकर मिलते है बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में. भारत की सभी नदियों को दो भागों में भाग के आ गया है. एक भाग को कहा गाया है हिमालयन और दूसरे भाग को कहा गाया है प्रायद्वीपीय नदी.

हिमालयन नदी, भारत की ऐसे बहुत नदियां हैं जो हिमालय पर्वत से निकलते हैं, उन नदियों  को कहा जाता है हिमालयन नदी.

प्रायद्वीपीय नदी, भारत की दक्षिण भारत से जिन नदिया निकलते हैं उन नदियों को कहा जाता है प्रायद्वीपीय नदी. 

भारत में कुल कितनी नदियां है सम्बंधित जानकारी (Information About Indian Rivers)

भारतीय नदियों की कई रूप और आकार होते हैं, इन नदियां भारत में से बहते हुए मिलते हैं किसी बड़ी नदी या समुद्र से. जिनमें से कुछ कुछ नदियों को दो भागों में से जाना जाता है, एक है डेल्टा और दूसरे हैं ज्वारनदमुखतो जिसे अंग्रेजी में एस्टूरी (Estuary) कहा जाता है. भारत की नदियों के बारे में जाने से पहले, चलिए जानते हैं इन नदियों को इन दो भागों से क्यों जाना जाता है और इन दो और इन दो भागों के मतलब क्या है. 

डेल्टा क्या होता है? नदी जहां पार समुद्र से मिलती है, उस जगह पर नदी द्वारा  बहाकर मिट्टी के कारण जो मुख्य नदी होती है वह कई सारी धाराओं में बैठ जाती है, और समुद्र के किनारे त्रिभुजाकार क्षेत्र के निर्माण करते हैं. उस त्रिभुज आकर क्षेत्र को डेल्टा कहां जाता है. गंगा, ब्रह्मपुत्र, महानदी, गोदावरी, कृष्णा,कावेरी नदियों के द्वारा डेल्टा की उत्पत्ति होते हैं.

ज्वारनदमुखतो (Estuary) क्या होता है? समुद्र पृष्ठ के वह स्थान जहां पर समुद्र कि पानी बंद रहते हैं, जहां पर नदियों का ताजा बानी समुद्र के बंद पानी से मिलते हैं उसे ज्वारनदमुखतो कहा जाता है. नर्मदा नदी, ताप्ती नदी, मांडवी नदी ज्वारनदमुखतो (Estuary) निर्माण करते हैं.

यह भी पढ़ें : 20+ भारत के कुछ अद्भुत तथ्य क्या है ? जो दूसरे देशों से अलग बनाता है

हिमालयन नदी

Credit: UPSSSC ADDA

सिंधु नदी

जो नदी मानसरोवर से निकल के जम्मू कश्मीरसे से बहते हुए, अफगानिस्तान, पाकिस्तान बहते हुए अरब सागर से जाकर मिलती है उसे सिंधु घाटी या सिंधु नदी कहा जाता है. सिंधु नदी का लंबाई है 3180 किलोमीटर. सिंधु नदी का 5 सहायक नदी है. क्रमानुसार उन नदियों का नाम है झेलम, चिनाव, रावी, ब्‍यास और सतलुज नदी.

  1. झेलम
  2. चिनाव
  3. रावी
  4. ब्‍यास
  5. सतलुज

ब्रह्मपुत्र नदी

मानसरोवर के पास से एक और नदी निकलती है जोकि तिब्बत, अरुणाचल प्रदेश से बहेकर बांग्लादेश होकर जाकर मिलती है बंगाल की खाड़ी में. इस नदी को तिब्बत में सांपों के नाम से जाना जाता है, भारत में इस नदी का नाम है ब्रह्मापुत्र नदी और बांग्लादेश में इस नदी को जाना जाता है जमुना के नाम से. 

इस नदी का कुल लंबाई है 2900 किलोमीटर लेकिन भारत में इस नदी का लंबाई है 915 किलोमीटर. ब्रह्मपुत्र नदी भारत के सबसे चौड़ी नदी है. ब्रह्मपुत्र नदी और गंगा नदी बहेते हुए एक स्थान पर आकर मिलते हैं उसे कहते हैं मेघना. 

गंगोत्री नदी

जो नदी उत्तराखंड से निकल के बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड से बहते हुयी जाकर मिलती है बंगाल की खाड़ी में. गंगोत्री नदी भारत की सबसे लंबी नदी है, जिसका लंबाई है 2525 किलोमीटर. ए नदी भारत होकर बांग्लादेश में जाती है, बांग्लादेश में इस नदी को पद्मा नदी से जाना जाता है.

यमुना नदी

उत्तराखंड से एक और नदी निकलकर प्रयाग, इलाहाबाद होकर बहते हुए गंगा से जाकर मिलती है उसे यमुना नदी कहा जाता है. इस नदी का लंबाई है 1310 किलोमीटर. यह नदी भी गंगा नदी से जोड़कर जाकर मिलती है बंगाल की खाड़ी में.

लूनी नदी

भारत के पश्चिमी भाग राजस्थान में स्थित अरावली पर्वत से निकलकर कच्छ के तल में जाकर लुप्त होने बाली नदी को लूनी नदी कहा जाता है. इस नदी का लंबाई है 724 किलोमीटर.

यह भी पढ़ें : 2022 में होली कब है और होली का त्यौहार क्यों मनाया जाता है

प्रायद्वीपीय नदी

Credit: Magnet Brains

सोन नदी

छत्तीसगढ़ के अमरकंटक जगह के उत्तर से होकर गंगा से जाकर जुड़ने वाली नदी को सोन नदी कहा जाता है. सोन नदी का लंबाई है 784 किलोमीटर.

नर्मदा नदी

छत्तीसगढ़ के अमरकंटक शाखा के दक्षिण से होकर अरब सागर में मिलने वाली नदी को नर्मदा नदी कहा जाता है. इस नदी का लंबाई है 1312 किलोमीटर.

तपती नदी

तपती नदी दक्षिण दिशा में नर्मदा नदी के नीचे से बहने वाली नदी है जो कि सतपुड़ा पहाड़ी के सामने से बहती है. इस नदी का लंबाई है 724 किलोमीटर.

महानदी

छत्तीसगढ़ के अमरकंटक से निकल के बहते हुए बंगाल की खाड़ी में मिलने वाली नदी को महानदी कहा जाता है. महानदी में भारत की सबसे बड़ा बांध है, जिसका नाम है हीराकुण्ड बांध. महानदी की लंबाई है 900 किलोमीटर.

गोदावरी नदी

तपती नदी के नीचे से शुरू होकर पश्चिम में बहते हुए बंगाल की खाड़ी में मिलने वाली नदी को गोदावरी नदी कहा जाता है. इस नदी का लंबाई है 1465 किलोमीटर जो कि भारत की दूसरी सबसे बड़ी नदी है. 

कृष्णा नदी

कृष्ण नदी कर्नाटक से शुरू होकर बहते हुए जाकर मिलती है बंगाल की खाड़ी में मिलती है, जिसका लंबाई है 1400 किलोमीटर है. कृष्णा नदी भारत की तीसरी सबसे बड़ी नदी है. नागार्जुन सागर बांध कृष्णा नदी में मौजूद है. 

कावेरी नदी

कृष्णा नदी के नीचे से बहते हुए जाकर बंगाल की खाड़ी में मिलती है जिसका लंबाई है 805 किलोमीटर. शिवसुंदरम जल जलप्रपात कावेरी नदी पर ही मौजूद होते हैं. 

यह भी पढ़ें : बर्तमान में भारत में कितने राज्य है? भारत देश में कितने केंद्र शासित प्रदेश है?

भारत की नदियों की नाम, उद्गम स्थल संगम और लम्बाई 

क्रमांकनदीउद्गम स्थलसंगम लम्बाई 
1सिंधु नदीमानसरोवर झीलअरब सागर2880 की.मी(कुल लम्बाई),
709 की.मी(भारत में)
2ब्रह्मपुत्र नदीकर्नाटक के पश्चिम घाट पहाड़ की गंगामूल चोटी सेकृष्णा नदी इसकी कुल लंबाई 2,900 किलोमीटर है.
भारत में 916 किलोमीटर.
3झेलम नदीजम्मू कश्मीर के निकट बेरीनाग के समीप शेषनाग झील सेसिन्धु नदी724 की.मी
4चिनाब नदीहिमाचल प्रदेश में बरालान्चा दर्रे के निकट से सतलज नदी1180 की.मी
5रावी नदीहिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के रोहतांग दर्रे से चिनाब नदी725 की.मी
6ब्‍यास नदीहिमाचल प्रदेश के रोहतांग दर्रे के पास स्थित व्यास कुंड सेसिन्धु नदी470 की.मी
7गंगा नदीगोमुख के निकट गंतोत्री हिमनद सेबंगाल की खाड़ी2525 की.मी
8यमुना नदीबन्दरपूँछ के निकट यमुनोत्री हिमनद सेप्रयागराज में गंगा नदी में1375 की.मी
9चम्बल नदीमध्य प्रदेश के महू के निकट स्थित जनापावं की पहाड़ी सेउत्तर प्रदेश के इटावा के समीप यमुना नदी में1050 की.मी
10घाघरा नदीमानसरोवर की दक्षिण में गर्ल मंडोला सेसारण व बलिया जिले की सीमा पर गंगा नदी में1080 की.मी
11गंडक नदीनेपाल हिमालय में धौलागिरी व माऊंट एवरेस्ट के बीच सेपटना के समीप सोनपुर में गंगा नदी में425 की.मी
12कोसी नदीतिब्बत में माऊंट एवरेस्ट के उत्तर मेंकरागोल के दक्षिण पश्चिम में गंगा नदी में730 की.मी
13बेतवा नदीविध्यांचल पर्वतहमीरपुर के पास यमुना नदी में480 की.मी
14सोन नदीअमरकंटक की पहाड़ीपटना के समीप गंगा नदी में780 की.मी
15रामगंगा नदीउत्तरखंड के नैनताल के समीप सेकन्नौज के पास गंगा नदी में696 की.मी
16शारदा नदीनेपाल हिमालय में मिलाम हिमनद मेंघाघरा नदी में350 की.मी
17महानंदा नदीदार्जिलिंग पहाड़ियों सेगंगा नदी में360 की.मी
18सतलुज नदीमानसरोवर झील के पास स्थित राकस ताल से उत्पन्न मेंचेनाब नदी.1500 की.मी
19नर्मदा नदीविंध्याचल पर्वत श्रेणियों में स्थित अमरकंटक नाम के स्थान सेखम्भात की खाड़ी1,312 की.मी
20ताप्ति नदीमध्य प्रदेश के वैतूल जिले सेसूरत के पास खम्भात की खाड़ी724 की.मी
21महानदी नदीछत्तीसगढ़ के रायपुर जिले में सिहावा के पास बंगाल की खाड़ी815 की.मी
22लूनी नदीअजमेर जिले में स्थित नाग पहाड़कच्छ की तलमे 320 की.मी
23कृष्णा नदीमहाबलेश्वर के पास पश्चिम घाट पहाड़बंगाल की खाड़ी में1400 की.मी
24कावेरी नदीकर्नाटक के कुर्ग जिले में स्थित ब्रह्म गिरी पहाड़ीबंगाल की खाड़ी800 की.मी
Conclusion

भारत की कुछ नदियां, जिनके बारे में आज हम विस्तृत रूप से भारत में कुल कितनी नदियां है आलोचना की है. और हम जाने हैं नदी किस तरह कहां-कहां होकर बहते हैं. और हम नदियों के बारे में अच्छे से  विश्लेषक किया है. आगे भी हम इस विषय के ऊपर और भी जानकारी के साथ आपके पास आएंगे और आपको हमारे इस आर्टिकल का अपडेट भी मिल जाएगा.

भारत में और भी कई सारे छोटे-छोटे नदी है जिन के बारे में भी जानना बहुत जरूरी है. अगली बार हम आपको सभी छोटे और बड़े नदियों के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं. आशा करता हूं आप को अब भारत की बड़ी नदियों के बारे में अच्छी खासी ज्ञान प्राप्त हुई है. 

अगर आपको एक बार में समझ में आने में दिक्कत हाय तो आप दोस्त से बाहर भी पढ़ सकते हैं. और किसी भी जानकारी के लिए हमें कमेंट कर सकते हैं. आशा करता हूं आपको हमारा इस ब्लॉक पसंद आया है. तो दोस्तों आज हम हमारे इस जर्नी को यहीं पर समाप्त करते हैं और आपसे मिलते हैं हमारे अगले आर्टिकल में. तब तक के लिए स्वस्थ रहना खुश रहना.

Leave a Comment