भारत में सड़क परिवहन | भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग 2022

भारत में सड़क परिवहन / Road Transport in India हेलो दोस्तों आज हम आपको भारत में सड़क परिवहन के बारे में बताने वाले हैं. इस पोस्ट के माध्यम से आज आप सीखने वाले हैं परिवहन क्या होता है , सड़क परिवहन के प्रकार भेद , किस सड़क को किस रंग से दर्शाते हैं , सबसे ऊंची सड़क के नाम क्या है , भारत में सर्वाधिक पक्की सड़क कहां पर है , भारत में सर्वाधिक कच्ची सड़क कहां पर है , भारत में सर्वाधिक ग्रामीण सड़कें हैं |

भारत देश की सड़क एशिया महादेश के चाइना के बाद दूसरी सबसे बड़ी सड़क परिवहन है. भारतीय सड़क परिवहन सबसे लोकप्रिय परिवहन के माध्यम है, जिसका उपयोग करके लोग एक जगह से दूसरी जगह जाते हैं .

भारत के लिए सड़क परिवहन देश की आर्थिक विकास के एक अहम भूमिका है. दुनिया में भारत का सड़क क्षेत्र दूसरा सबसे बड़ा सड़क परिवहन क्षेत्र है. भारत में सड़कों का नियंत्रण केंद्रीय लोक निर्माण विभाग करते हैं. वर्तमान भारत में सड़क कुल 63,86,297 किलोमीटर है. दोस्तों हम यहां पर आपके लिए structure और table के माध्यम से समझाने की कोशिश किए हैं, आशा करते हैं आपको आसानी से जानकारी प्राप्त हो .

यह भी पढ़ें : हमारे देश का नाम कैसे पड़ा भारत, इंडिया और हिंदुस्तान नाम क्यों हुआ?

परिवहन क्या होता है (What is Transport)

परिवहन एक तरह की सुविधा होते हैं जिसके माध्यम से व्यक्ति या वस्तु को एक स्थान से दूसरे स्थान में ले जाया जाता है,जिस माध्यम से हम एक स्थान से दूसरे स्थान में जाते हैं उसे परिवहन (Transport) कहा जाता है |

भारत में सड़क परिवहन

परिवहन 3 तरह के होते हैं.

  1. जल परिवहन
  2. थल परिवहन
  3. वायु परिवहन

स्थल परिवहन दो तरह के होते हैं

  1. सड़क परिवहन
  2. रेल परिवहन

भारत में सड़क परिवहन / Indian Road Transport

1943 मैं भारत की सड़क के निर्माण के लिए नागपुर योजना आई थी. इस योजना के तहत भारत के सड़कों को 4 भागों में बांटा गया था. इन चार प्रकार के सड़कों के नाम है राष्ट्रीय राजमार्ग , राज्य राजमार्ग , जिला सड़क , ग्रामीण सड़क आदि .

सड़क परिवहन के प्रकार भेद , Short & Full Form , रंग और मात्रा

सड़क परिवहन के नामShort & Full Formकोनसी रंग से दर्शाते हैंसड़क परिवहन की मात्रा
राष्ट्रीय राजमार्गNH (National Highway)राष्ट्रीय राजमार्ग को पीले रंग मील का पत्थर से दर्शाते हैंमात्रा लगभग 1,36,440 किलोमीटर है
राज्य राजमार्गSH (State Highway)राज्य राजमार्ग को हरे रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैंमात्रा लगभग 1,76,818 किलोमीटर है
जिला सड़कDR (District Road)जिला सड़क को काला रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैंमात्रा लगभग 6,32,000 किलोमीटर है
ग्रामीण सड़कRR (Rural Road)ग्रामीण सड़क को नारंगी रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैंमात्रा लगभग 45,45,000 किलोमीटर
सीमांत सड़कBR (Border Road)मात्रा लगभग 21,410 किलोमीटर है
Credit : STUDY 91

यह भी पढ़ें : 20+ भारत के कुछ अद्भुत तथ्य क्या है ? जो दूसरे देशों से अलग बनाता है

भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग – NH (National Highway)

राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क के निर्माण CPWD (केंद्रीय लोक निर्माण विभाग / Central Public Works Department) और NHAI (भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण / National Highways Authority of India) द्वारा किया जाता है. 

भारत में इन सड़कों की कुल लंबाई 1,38,000 किलोमीटर है. भारत में छोटे बड़े कुल 599 राष्ट्रीय राजमार्ग है. भारत में मुख्य राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 87 है, जो कुल सड़कों में इनकी मात्रा में 2% है. राष्ट्रीय राजमार्ग को पीले रंग मील का पत्थर से दर्शाते हैं. 

राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क

N.H - 44 , यह सड़क श्रीनगर से कन्याकुमारी तक जाता है, जो भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग है, जिसकी लंबाई लगभग 3745 किलोमीटर है. NH – 44 सड़क 11 राज्य से होकर गुजरता है.

GT Road क्या है ?

में हुमायूं के शासनकाल में शेरशाह सूरी ने GT Road का निर्माण किया था. यह सड़क कोलकाता से लेकर पाकिस्तान बॉर्डर तक जाता है. भारत में GT Road को N.H – 1 और N.H – 2 दो भागों में विभाजन किया गया है.

N.H - 1 , यह सड़क दिल्ली से लेकर पाकिस्तान बॉर्डर तक जाता है.

N.H - 2 , यह सड़क दिल्ली से लेकर कोलकाता तक जाता है.

N.H - 27 , यह सड़क गुजरात के पोरबंदर से असम के सिलचर तक जाता है, जो भारत के दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग है. इस सड़क की लंबाई लगभग 3507 किलोमीटर है. NH – 27 सड़क 7 राज्य होकर गुजरता है.

N.H - 19 , यह सड़क दिल्ली से कोलकाता तक जाता है.

N.H - 16 , यह सड़क चेन्नई से कोलकाता तक जाता है.

N.H - 48 , यह सड़क दिल्ली से चेन्नई तक जाता है. ऐसा राक भारत का तीसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग है. 

N.H - 52 , यह सड़क पंजाब के संगरूर से कर्नाटक तक जाता है.

N.H - 30 , यह सड़क उत्तराखंड से आंध्र प्रदेश तक जाता है.

N.H - 6 , इस सड़क मेघालय, आसाम और मेजोरम को आपसमे जोर्ता हैं. 

N.H - 47A , यह सड़क केरल के कोच्चि से वेलिंगटन तक जाता है. यह सड़क भारत देश का सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग है, इसका लंबाई मात्र 6 किलोमीटर है. 

यह भी पढ़ें : बर्तमान में भारत में कितने राज्य है? भारत देश में कितने केंद्र शासित प्रदेश है?


भारत के राज्य राजमार्ग – SH (State Highway)

राज्य राजमार्ग के निर्माण राज्य सरकार और SPWD (राज्य लोक निर्माण विभाग / Society for Promotion of Wastelands Development) द्वारा किया जाता है. इन सड़कों का मुख्य कार्य जिला मुख्यालय को राजधानी के साथ जोड़ना होता है. भारत में सड़कों का कुल मात्रा लगभग 1,76,818 किलोमीटर है. भारतीय राज्य राजमार्ग जिसे अंग्रेजी में Indian State Highway कहा जाता है.

भारत में सबसे लंबी राज्य राजमार्ग मुंबई में और सबसे छोटी राज्य राजमार्ग है सिक्किम में. विश्व में सबसे ऊंचा सड़क मार्ग है ‘लेह – श्रीनगर’ मार्ग में, जो कि भारत देश में ही स्थित है, जिसे NH – 1D के नाम से जाना जाता है. हरे रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैं. भारतीय राज्य राजमार्ग को राज्य सरकार और राज्य लोक निर्माण विभाग द्वारा नियंत्रित किया जाता हैं. इन सड़कों के माध्यम से राज्य मुख्यालय को राजधानी के साथ जोड़ा जाता है. राज्य राजमार्ग को हरे रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैं.

जिला सड़क – DR (District Road)

जिला सड़क के निर्माण जिला सरकार और जिला परिषद और PWD के दुयारा किया जाता है. वर्तमान भारत में कुल जिला सड़क लगभग 6,32,000 किलोमीटर है. जला सरकार के योजना द्वारा स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल और गांव की सड़क के साथ जिला मुख्यालय के सड़क को जोड़ा जाता है. जिला सड़क को काला रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैं.

ग्रामीण सड़क – RR (Rural Road)

ग्रामीण सड़क के निर्माण प्रधानमंत्री सड़क योजना के अनुसार ग्राम पंचायत द्वारा किया जाता है. भारत में इन सड़कों का कुल मात्रा है लगभग 45,45,000 किलोमीटर है. ग्रामीण सड़क को नारंगी रंग के मील का पत्थर से दर्शाते हैं.

सीमांत सड़क – BR (Border Road)

भारत की सभी प्रकार के सड़कों में से सीमांत सड़क सबसे कम, जो कुल मिलाकर लगभग 21,410 किलोमीटर है. सीमांत सड़क आम जनता के लिए नहीं है.इन सड़कों का निर्माण सीमांत सड़क संगठन द्वारा किया जाता है.  इन सड़कों को केवल देश के आर्मी, सैनिक और BSF आदि के लिए है.

यह भी पढ़ें : भारत में कुल कितनी नदियां है? नदियों की नाम, उद्गम स्थल, संगम और लम्बाई


भारत सरकार द्वारा सड़कों का विकास योजना

भारत में सड़कों का विकास करने के भारत सरकार के द्वारा कई प्रकारकी योजना चलाई गई है , जोकि –

स्वर्णिम चतुर्भुज योजना – स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के अंतर्गत भारत के 4 महानगर को जोड़ने का काम था,  दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता. इस योजना के माध्यम से इन 4 महानगर को जोड़ा गया. 

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना – इस योजना के माध्यम से गांव को पक्की सड़क के माध्यम से शहर से जोड़ा गया. सभी गांव के सड़क को पक्की बनाया गया इस योजना के माध्यम से.

Frequently Asked Questions

भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग कौनसा हैNH 44 भारत का सबसे लम्बा राजमार्ग
भारत का सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग कौनसा हैN.H – 47A लंबाई केवल 6 किलोमीटर है
सबसे ऊंची सड़क के नाम क्या हैउमलिंग्ला सड़क
भारत में सर्वाधिक पक्की सड़क कहां पर हैमहाराष्ट्र, 15,436 किलोमीटर
भारत में सर्वाधिक कच्ची सड़क कहां पर हैउड़ीसा
भारत में सर्वाधिक ग्रामीण सड़कें हैं45,35,511 किलोमीटर

आपने क्या सीखा

भारतीय भौगोलिक के सभी परिवहन विभाग में से भारतीय सड़क परिवहन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. क्योंकि भारत की सभी परिवहन में से 78% परिवहन सड़क का उपयोग करते हैं.सड़क एक ऐसा माध्यम है जो भारत की हर छोटे से छोटे गांव से भरे से भरे शहर को जोड़ते हैं.

दोस्तों आज हम भारतीय भौगोलिक के सड़क परिवहन के ऊपर बात किए हैं, आज आपने सीखा है परिवहन क्या होता है , भारत में सड़क परिवहन , सड़क परिवहन के प्रकार भेद , किस सड़क को किस रंग से दर्शाते हैं , सबसे ऊंची सड़क के नाम क्या है , भारत में सर्वाधिक पक्की सड़क कहां पर है , भारत में सर्वाधिक कच्ची सड़क कहां पर है , भारत में सर्वाधिक ग्रामीण सड़कें हैं.

दोस्तों आशा करते हैं आप भारतीय सड़क परिवहन के ऊपर सभी जानकारी प्राप्त किए हैं, अगर आप किसी विषय के ऊपर विस्तृत जानना चाहते हैं तो हमें कॉमेंट करके बता सकते हैं. दोस्तों आज हम हमारे इस सफर को यहीं पर समाप्त करते हैं, और आपसे मिलते हैं हमारे अगले में जानकारी के साथ. तब तक के लिए स्वस्थ रहिए खुश रहिए .

Leave a Comment