SDM Full Form in Hindi | SDM कैसे बने हिंदी में पूरी जानकारी 2022

नमस्कार दोस्तों, फिर से एक बार आपका बहुत-बहुत स्वागत है हमारे आज की इस नये जानकारी मैं SDM Full Form in Hindi / SDM का Full Form क्या है . यहां पर हम आपको एसडीएम से जुड़ी हुई सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं. SDM एक सरकारी पद है, क्या आप जानते हैं SDM का क्षमता जिले में सबसे ऊपर होता है और  सरकार के तरफ से उन्हें हर तरह की सुविधा दिए जाते हैं.

दोस्तों क्या आप भी SDM बनना चाहते हैं और जानना चाहते हैं SDM Officer Kaise Bane / एसडीएम अधिकारी कैसे बने तथा SDM बनने के लिए आवश्यकता क्या है, तो हमारे यह पोस्ट आपके लिए है. क्योंकि आज हम आपको बताने जा रहे हैं SDM क्या है , SDM का काम क्या होता है? , एसडीएम बनने की योग्यता , SDM बनने के लिए क्या Qualification होना चाहिए और Salary of SDM Officer आदि .

SDM Full Form in Hindi

एक SDM Officer को समाज में काफी  सम्मान, पावर और दर्जा दिया जाता है, अगर आप SDM Full Form in Hindi जानने के साथ साथ SDM कैसे बने सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे साथ अंत तक जरूर बने रहे. क्योंकि इस लेख के माध्यम से हम आपको एसडीएम से जुड़ी सभी तत्त्य विस्तार से बताये है ताकि आपको कहीं और जाने की आवश्यकता ना पड़े. 

SDM Full Form in Hindi / SDM का Full Form क्या है

SDM शब्द जुड़ी हुई है DM शब्द से, DM का फुल फॉर्म है “ District Magistrate “, जिस का हिंदी मतलब है “ जिला अधिकारी “. SDM अधिकारी DM नीचे और DM के निर्देश अनुसार काम करते हैं. इसलिए इसके साथ S अक्षर को जोड़ा गया है क्योंकि S अक्षर का फुल फॉर्म है “ Sub “ जिसका हिंदी अर्थ है “ उप “. तो मुद्दे निकल कर आते हैं की Full Form of SDM is “ Sub Divisional Magistrate “ और SDM Full Form in Hindi “ उप प्रभागीय न्यायाधीश “ .

SDM Full Form

Serial No.SDM Full Form In CategorySDM Full Form
1.SDM Full FormSub Divisional Magistrate
2.SDM Full Form In Hindiउप प्रभागीय न्यायाधीश
3.SDM Full Form In NetworkingSecurity Device Manager
4.SDM Full Form In SoftwareSoftware Development Manager
5.SDM Full Form In TelecomService Delivery Management
6.SDM Full Form In CommunicationShared Decision Making
7.SDM Full Form In MilitarySelective Display Model
8.SDM Full Form In GeologySpatial Data Modelling
9.SDM Full Form In BusinessSystems Development Multiuser
10.SDM Full Form In ManagementSystem Design Management
11.SDM Full Form In General BusinessScientific Data Management

यह भी पढ़ें 

  1. SDO Full Form in Hindi और कैसे बने हिंदी में पूरी जानकारी
  2. OTP Full Form in Hindi । OTP क्या है
  3. MM Full Form In Hindi | Marketing Manager क्या है
  4. OSD Full Form और OSD का मतलब क्या है हिंदी में
  5. B.Ed Full Form In Hindi | B.Ed क्या है पूरी जानकारी

SDM क्या है / What is SDM in Hindi

SDM के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करने से पहले चलिए जान लेते हैं एसडीएम क्या है (What is SDM in Hindi) . एसडीएम का फुल फॉर्म है Sub Divisional Magistrate , जिसे हम हिंदी में “ उप प्रभागीय न्यायाधीश “  कहते हैं. कोई भी government officer बनने के लिए बहुत मेहनत करना पड़ता है, ऐसा ही एक पोस्ट है SDM का.

Credit : Best Fact Fair

देश की हर एक जिले में एक एटीएम जरूर होता है, जो जिले के सभी जमीन और व्यापार के ऊपर देखरेख करते हैं. जिले की सभी भूमि का जानकारी तथा सभी भूमि का देखरेख की जिम्मेदारी SDM के ऊपर ही होता है. इसके अलावा विवाह रजिस्ट्रेशन, विभिन्न प्रकार के पंजीकरण करवाना, लाइसेंस जारी करवाना, नवीनीकरण करवाना, राज्य में लोकसभा और विधानसभा की सदस्य का चुनाव करना आदि और भी कई तरह के दायित्व SDM के ऊपर होता है.

अगर आप भी एक SDM बनना चाहते हैं तो आपको उसके अनुसार मेहनत करनी होगी. भारत में हर साल एसडीएम बनने का तैयारी कई students करते हैं लेकिन सफल सिर्फ कुछ ही लोग होते हैं. अगर एसडीएम बनना चाहते हैं तो आपको इसके बारे में सभी जानकारी होना आवश्यक है, क्योंकि तभी आप इसके तैयारी की शुरुआत कर सकते हैं.

SDM का काम क्या होता है?

SDM राज्य प्रशासनिक सेवा के अंतर्गत सर्वोच्च पद होते हैं SDM Officer का. एसडीएम को जिला के अंतर्गत कार्य करना होता है, जो एक जिला अधिकारी का काम होता है वही कार्य करना एसडीएम का भी काम होता है.तो चलिए हम जानते हैं एसडीएम प्रशासनिक पद अधिकारी के रूप में क्या-क्या कार्य करता है.

  1. जिले की हार सरकारी विभाग को एसडीएम निर्देशित और नियोजन करते हैं. 
  1. एसडीएम साधारण आदमी के समस्या को सुनते हैं और समस्या का निवारण करते हैं.
  1. सरकारी नीतियां और योजनाएं जनता तक एसडीएम के माध्यम से पहुंचाया जाता है. 
  1. सरकारी नीतियां और योजनाएं लागू करना, निगरानी और देखरेख का दायित्व इन्हीं के ऊपर होता है.
  1. जितने भी भू राजस्व से संबंधित विवाद होते हैं उनका निवारण एसडीएम करते हैं.
  2. इसके अलावा एसडीएम आपराधिक प्रक्रिया संहिता 1973 और कई अन्य नाबालिग कृत्यों के तहत विभिन्न न्यायिक कार्य को करते हैं.

इसके अलावा विवाह रजिस्ट्रेशन, विभिन्न प्रकार के पंजीकरण करवाना, लाइसेंस जारी करवाना, नवीनीकरण करवाना, राज्य में लोकसभा और विधानसभा की सदस्य का चुनाव करना आदि और भी कई तरह के दायित्व SDM के ऊपर होता है. अगर आप औरभी जानना चाहते हैं तो आप अलग से SDM का काम क्या होता है देख सकते हैं. 

SDM Officer Kaise Bane / एसडीएम अधिकारी कैसे बने

SDM Officer को हर डिपार्टमेंट में नियुक्त किया जाता है, यह एक सरकारी अधिकारी है विभिन्न प्रकार के कार्य करते हैं. इन अधिकारियों की नियुक्ति सरकारी विभाग के अधिकारियों द्वारा नियुक्ति किया जाता है. अगर आप एसडीएम अधिकारी बनना जाते हैं तो आपको उसके अनुसार मेहनत भी करनी होगी. एसडीएम अधिकारी का चुनाव दो तरह से किया जाता है, 

एक है आपको किसी डिपार्टमेंट के एसडीएम के नीचे एक अधिकारी के रूप में चुना जाता है. कई सारे अधिकारी होते हैं उन्हें किसी काम के माध्यम से training लिया जाता है. उनमें से जो अच्छे तरीके से काम करते हैं उन्हें एसडीएम ऑफिसर बना दिया जाता है. अगर आप भी एक SDM अधिकारी बनना चाहते हैं तो आपकों भी सही तरीके से काम करना होगा.

दूसरा है राज्य सरकार द्वारा आयोजित PSC ( Public Service Commission ) परीक्षा के माध्यम से एसडीएम अधिकारियों को चुना जाता है और इसी तरह से देश की राज्यों में PSC परीक्षा के माध्यम से SDM ऑफिसर का चुनाव होता है. SDM के लिए PSC एक राज्य परीक्षा है ( state level exam) जैसे कि,

State Wise Exam Example

Serial No.State NameName of The Exam
1.RajasthanRajasthan Public Service Commission
2.Uttar PradeshUttar Pradesh Public Service Commission 
3.BiharBihar Public Service Commission
4.JharkhandJharkhand Public Service Commission
5.West BengalWest Bengal Public Service Commission

किसी भी state PSC का फॉर्म भरने के लिए आपका उस राज्य का निवासी होना जरूरी नहीं है, आप किसी भी राज्य का PSC का फॉर्म भर सकते हैं.

SDM बनने के लिए आवश्यकता 

एक SDM दफ्तर किसी भी सरकारी विभाग के मुख्य कर्मचारी होते हैं. जिनके अंतर्गत कई सारे छोटे कर्मचारी रहते हैं जो उनके निर्देश अनुसार काम करते हैं और एसडीएम ऑफिसर के सामने जवाबदेही होते हैं. एसडीएम जनता की शिकायतों को सुनते हैं और उनका सुधार करते हैं. एसडीएम ऑफिसर अपने टीम के साथ जिला के देखरेख करने में योगदान करते हैं.

अगर आप एक एसडीएम अधिकारी ( SDM Officer ) बनना चाहते हैं तो आपको इसके जानकारी होना बोहोत अबशक है. SDM बनने के लिए आवश्यकता जाने बिना आप एसडीएम अधिकारी बनने का तैयारी नहीं कर सकते हैं. इसलिए यहां पर हम आपको s.d.m. बनने की सभी जानकारी देंगे. अगर आप भी एक एसडीएम ऑफिसर बनना चाहते हैं तो नीचे दिए गए विषय के ऊपर गौर करें.

एसडीएम बनने की योग्यता / Eligibility to become SDM

PSC नाम के एक परीक्षा होता है उस परीक्षा को देकर आप SDM बन सकते हैं. परीक्षा देने के लिए फॉर्म भरना पड़ता है, दोस्तों इस फॉर्म को भरने के लिए आपका किसी भी recognized university से graduation पास होना चाहिए. दोस्तों Diploma करके आप इस फॉर्म को नहीं भर सकते है. अगर आप graduation पास है, last semester इया last year में ग्रेजुएशन कर रहे हैं मतलब appreing है तब भी आप इस फॉर्म को भर सकते हैं.

SDM बनने का कुछ आवश्यकता है ( Eligibility to become SDM ) जिसके बारे में आपको जरूर जाना चाहिए. Graduation में पासका सिर्फ pass marks होने पर ही आप इस फॉर्म को भर सकते हैं मतलब एसडीएम बनने का प्रयास कर सकते हैं. ग्रेजुएशन आप किसी भी stream से किया हो आप इस फॉर्म को भर सकते हैं. जैसे कि

Qualification Required

Serial No.योग्यता होना चाहिएCourse का Full Form
1.BABachelor of Arts
2.B.ComBachelor of Commerce
3.BBABachelor of Business Administration
4.BCABachelor’s in Computer Application
5.EngrEngineering
6.MedicalNone
7.Hotel ManagementNone

एसडीएम बनने का Age limit कितना है?

चलिए अब हम जानते हैं SDM बनने के लिए तथा PSC का फॉर्म भरने के लिए age limit क्या है. दोस्तों हर राज्य के लिए सरकार द्वारा निर्धारित एज लिमिट है, फिर भी मान के चलिए PSC का फॉर्म भरने के लिए न्यूनतम आयु होना चाहिए 21 होना साल और अधिकतम आयु होना चाहिए 40 साल.

यह एज लिमिट सभी के लिए समान है, इससे कम या ज्यादा उम्र के लोग इस फॉर्म को नहीं भर सकते हैं. आप जींस स्टेट का फॉर्म भरते हैं जो छूट मिलेगी वह उसी स्टेट के लोगों के लिए होगी. दूसरे स्टेट के लिए फॉर्म भरते हैं तो उस स्टेट का एज लिमिट लागू होगा और इसके लिए आपको उस स्टेट का एज लिमिट देखना पड़ेगा.

Age Criteria

Serial No.Caste CategoryAge Criteria
1.General category21 – 40 Years
2.OBC category21 – 45 Years
3.SC / ST category21 – 45 Years
4.PWD21 – 55 Years

SDM बनने के लिए क्या Qualification होना चाहिए

SDM बनने के लिए मतलब PSC का फॉर्म भरने के लिए आपका graduation पास होना जरूरी है. अगर आप न्यूनतम नंबर से ग्रेजुएशन पास करते हैं फॉर्म भर सकते हैं. फॉर्म भरने के बाद आपको मौका मिलेगा एग्जाम देने का, दोस्तों एसडीएम बनने के लिए आपको 3 दफा में परीक्षा देना पड़ता है.

प्रारंभिक परीक्षा / Preliminary Examination

Preliminary Examination के लिए , इसमें आपको MCQ ( Multiple Choice Question ) solve करना पड़ता है. यहां पर आप कौन हैं 2 paper देने पड़ते हैं General Studies 1 और General Studies 2 . General Studies 1 मैं कुल 150 प्रश्न होते हैं, जोकि 200 नंबर के होते हैं और General Studies 2 मैं कुल 100 प्रश्न होते है जोकि 200 नंबर के होते हैं. 

Type of Paper

  • General Studies 1
  • General Studies 2

Preliminary Examination मैं question 10th level के ही होते हैं. इन दोनों paper solve करने के लिए आपको समय मिलता है 2 घंटे करके. Paper 2 सिर्फ एक qualifying paper है, merit list बनाने के लिए इस नंबर को जोड़ा नहीं जाता है. इसमें आपको 33% मार्क्स लाना आवश्यक है, तभी आप mains exam में बैठ सकते हैं.

मुख्य परीक्षा / Mains Examination

Mains Examination स्टेट PSC के लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि यही परीक्षा आपको फाइनल एग्जाम तक लेकर जा सकते हैं. इस परीक्षा में कुल 8 पेपर होते हैं General Hindi, Essay, General Studies I, General Studies II, General Studies III, General Studies IV, Optional Subject – Paper I, Optional Subject – Paper II. सभी पेपर के लिए आपको 3 घंटे करके समय दिए जाते है. 

Type of Paper

Serial No.Name Of Paper
1.General Hindi
2.Essay
3.General Studies I
4.General Studies II
5.General Studies III
6.General Studies IV
7.Optional Subject – Paper I
8.Optional Subject – Paper II

साक्षात्कार परीक्षा / Interview Examination

दोस्तों जब आप Preliminary Examination और Mains Examination देकर पास हो जाते हैं तब बाड़ी आता है Interview Examination का. Interview मैं आपसे 200 marks का प्रश्न पूछा जाता है जिसमे आपको कई की तरह के जश्न का उत्तर देना होता है. Interview के माध्यम से ही SDM अधिकारी को चुना जाता है तो इसलिए आपके लिए interview सबसे महत्वपूर्ण है.

परीक्षा ( Examination ) के इन 3 stage चीजों को पूरा करने के बाद ही आप SDM के लिए चुने जाएंगे. ध्यान रखिएगा आपको तीनों क्षेत्र के परीक्षा में एक दफा में पास करना है, अगर आप लिखित परीक्षा में पास होते हैं और interview में फेल करते हैं, तो आपको दोबारा से इन तीनों परीक्षा देना होगा. 

परीक्षा का विषय क्या है / What is the Syllabus of Examination

किसी भी परीक्षा में पास होने के लिए उस परीक्षा के सिलेबस का ज्ञान होना सबसे ज्यादा आवश्यक है. जैसे कि हमने आपको बताया तीन तरह के एग्जाम देना पड़ता है Preliminary Examination , Mains Exam और Interview. तीन तरह के एग्जाम के लिए अलग-अलग syllabus होते हैं और अलग-अलग examination pattern होते हैं. जैसे कि,

1. Preliminary Examination Syllabus

Preliminary Examination की Paper 1 में आप से Current Affair, Indian History, India and World Geography, General Knowledge, Economy, Political Science And Social Development से प्रश्न पूछा जाता है. Preliminary Examination की Paper 2 में आप से Mathematics, Reasoning, English और Hindi से प्रश्न पूछा जाता है.

2. Mains Examination Syllabus

General Hindi से 50 नंबर का प्रश्न पूछा जाता है, Essay Writing मैं तीन टॉपिक से 700 words के लिखना है, General Studies के 4 paper होते हैं जोकि 200 नंबर करके रहेते हैं. पहले 3 paper में Indian History, Economics, World Geography, Disaster, Current Affairs से प्रश्न पूछा जाता है और paper 4 में Ethics से प्रश्न पूछा जाता है. Optional Subject के ऊपर कुल 29 subject होते हैं जिसमें से आपको किसी भी एक विषय के ऊपर परीक्षा देना पड़ता है.

3. Interview Examination Syllabus

 इंटरव्यू के लिए निर्धारित कोई सिलेबस नहीं है, आपसे कुछ भी विषय के ऊपर प्रश्न पूछा जा सकता है, आपको किताब से भी प्रश्न पूछा जा सकता है और आपके जिला के बारे में भी पूछा जा सकता है. यहां पर आपसे जो भी प्रश्न पूछा जाता है उनका उत्तर आपको बहुत ही सोच समझ कर और सही ढंग से देना होता है.

Salary of SDM Officer / एसडीएम अधिकारी का वेतन 

SDM Officer / एक एसडीएम अधिकारी के वेतन हर एक राज्य में अलग अलग हो सकते हैं. अगर हनुमान की बात किया जाए तो एक एसडीएम अधिकारी का वेतन लगभग 50,000 – 60,000 से शुरू होता है. जैसे-जैसे experience बढता है वेतन भी धीरे-धीरे बढता है. एक SDM Officer ऑफिसर को कई सारे सुविधा भी मिलते हैं और उनको भाता भी दिए जाते हैं, सब कुछ मिलाकर एक SDM ऑफिसर काफी फायदेमंद होते हैं.

यह भी पढ़ें 

  1. SDO Full Form in Hindi और कैसे बने हिंदी में पूरी जानकारी
  2. OTP Full Form in Hindi । OTP क्या है
  3. MM Full Form In Hindi | Marketing Manager क्या है
  4. OSD Full Form और OSD का मतलब क्या है हिंदी में
  5. B.Ed Full Form In Hindi | B.Ed क्या है पूरी जानकारी

आपने क्या सीखा

दोस्तों अगर आप तय कर चुके हैं कि आप को SDM ही बनना है तो आपको अभी से ही इसके syllabus के ऊपर ध्यान देना चाहिए. इस परीक्षा का general studies का प्रश्न pattern , civil exam जैसा ही होता है. अगर आप किसी भी सरकारी नौकरी की तैयारी करते हैं तो आपको सभी subject के ऊपर ध्यान देना जरूरी है.

अगर आप इस पढ़ाई के तैयारी कर रहे हैं ,तो आपके चुने हुए subject ऊपर ज्यादा ध्यान दें, previous students से बात करें और उनसे suggestions ले, online interview देखें और उन्हीं subject को चुने जो आपके पसंद के हो. दोस्तों यह थी हमारी SDM बनने की पूरी जानकारी.

आज हम के इस लेख के माध्यम से आपको जानकारी दिए हैं SDM Full Form in Hindi और SDM कैसे बने , SDM का काम क्या होता है? , SDM बनने के लिए आवश्यकता आदि. अगर आपको हमारे यह लेख पसंद आए हैं और महत्वपूर्ण लगे हैं तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें. हम आपसे मिलते हैं हमारे अगले नए जानकारी के साथ तब तक के लिए स्वास्थ्य रहें खुश रहें.

Leave a Comment